न्यूज़ पढ़ें

on
03-07-17

मुख्यमंत्री के लोक संवाद कार्यक्रम का किया गया आयोजन


पटना, 03 जुलाई 2017 :- 1, अण्णे मार्ग स्थित लोक संवाद सभा कक्ष में आज मुख्यमंत्री के लोक संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आज आयोजित लोक संवाद कार्यक्रम में पथ निमार्णग्रामीण कार्यभवन निर्माणउर्जाग्रामीण विकासलोक स्वास्थ्य अभियंत्रणनगर विकास एवं आवासपंचायती राजजल संसाधनलघु जल संसाधनउद्योगगन्ना उद्योगविज्ञान एवं प्रावैधिकीसूचना प्रावैधिकी एवं पर्यटन विभाग से संबंधित मामलों पर छह लोगों  द्वारा मुख्यमंत्री को अपना सुझाव दिया गया।

 आयोजित लोक संवाद कार्यक्रम में औरंगाबाद से श्री आस्तिक शर्माबख्तियारपुर से श्री दिनेश प्रसाद सिंहपटना से श्री रंजीत कुमारबक्सर से श्री विशाल कुमार ठाकुरभागलपुर से श्री दीपक कुमार झा ने अपने-अपने सुझाव एवं राय मुख्यमंत्री को दिये। प्राप्त सुझाव एवं राय पर संबंधित विभाग के प्रधान सचिव/सचिव ने वस्तुस्थिति को स्पष्ट किया। लोगों से प्राप्त सुझाव एवं राय पर मुख्यमंत्री ने संबंधित विभागों के प्रधान सचिव/सचिव को कार्रवाई करने हेतु निर्देशित किया।

 आयोजित लोक संवाद कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री श्री तेजस्वी प्रसाद यादवजल संसाधन मंत्री श्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंहउर्जा मंत्री श्री विजेन्द्र प्रसाद यादवग्रामीण विकास मंत्री श्री श्रवण कुमारनगर विकास एवं आवास मंत्री श्री महेश्वर हजारीपंचायती राज मंत्री श्री कपिलदेव कामतगन्ना उद्योग मंत्री श्री खुशीर्द उर्फ फिरोज अहमदलोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्री श्री कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मापर्यटन मंत्री श्रीमती अनीता देवीमुख्य सचिव श्री अंजनी कुमार सिंहपुलिस महानिदेशक श्री पी0केठाकुरप्रधान सचिव मंत्रिमंडल समन्वय श्री ब्रजेश मेहरोत्रामुख्यमंत्री के सचिव श्री अतीश चन्द्रामुख्यमंत्री के सचिव श्री मनीष कुमार वर्मा सहित संबंधित विभागों के प्रधान सचिव/सचिव उपस्थित थे।

 आयोजित लोक संवाद कार्यक्रम के पश्चात् मुख्यमंत्री ने मीडिया प्रतिनिधियों द्वारा कांग्रेस नेता श्री गुलाम नबी आजाद के वक्तव्य के संबंध में पूछे गये प्रशन का जवाब देते हुये कहा कि इस संदर्भ में मैंने सभी कुछ पहले ही बता दिया है। आजाद साहब के बयान पर जदयू को जो कहना था वह कह दिया गया है। उन्होंने कहा कि बिहार के विकास के लिये साझा कार्यक्रम को लागू करना हमारी प्राथमिकता है। सभी को अपनी मर्यादा का पालन करना चाहिये। मैं प्रेस की आजादी का पक्षधर हूँ। पार्टी के आंतरिक बैठक में पार्टी अपने कार्यक्रम पर विचार-विमर्श करती है।

विपक्ष के प्रधानमंत्री के चेहरा के संबंध में पूछे गये प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं विपक्ष का चेहरा नहीं हूँ। विपक्ष को अपना वैकल्पिक एजेंडा तय करना चाहिये। वैकल्पिक एजेंडा के आधार पर एकता और गोलबंदी होनी चाहियेतभी वह प्रभावी होगा। सिर्फ चेहरा प्रभावी नहीं होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता श्री पीचिदंबरम के किताब विमोचन के कार्यक्रम में मैंने कहा था कि विपक्ष को अपना एजेंडा तय कर लेना चाहिये। विपक्ष के मजबूती के लिये यह जरूरी है कि हम अपना एजेंडा तय करें और उसपर काम करेंसाथ ही विपक्ष के दायित्वों का भी पालन करें। उन्होंने कहा कि वैकल्पिक एजेंडा सभी विपक्षी पार्टियों को मिलकर तय करना चाहिये। वैकल्पिक एजेंडा के संदर्भ में पूछे गये प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हम किस प्रकार देश को आगे ले जाना चाहते हैं यह तय होना चाहिये। हर मुद्दों पर हमें अपनी बात रखनी चाहिये। उन्होंने कहा कि पीचिदंबरम साहब की किताब के विमोचन कार्यक्रम में भी हमने कहा था कि कांग्रेस बड़ी पार्टी हैकांग्रेस को अन्य पार्टियों को बुलाकर वैकल्पिक एजेंडा तैयार करना चाहिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज किसान का मुद्दा बैकग्राउंड में चला गया है। आज राष्ट्रपति चुनाव को इस तरह हाईलाइट किया गया है कि सारे मुद्दे बैकग्राउंड में चले गये हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा जो वादे किये  गये थे उसे पूरा नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि मेरा यह स्पष्ट मत है कि आज देश में वैकल्पिक नरेटिव की जरूरत है। सिर्फ एकता की बातें करने से काम नहीं चलेगा। उन्होंने कहा कि बिहार में महागठबंधन सिर्फ विपक्षी एकता नहीं थीहमारा एक एजेंडा था साथ ही हमारे पहले के किये गये काम थेजिसे लेकर हम लोगों के पास गये और सफल हुये। उन्होंने कहा कि बिहार में महागठबंधन में स्पष्ट एकता के साथ-साथ भविष्य के लिये एजेंडा था जो कि एन0डी0में नहीं था। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर भी सिर्फ गठबंधन बनाने से नहीं होगा अल्टरनेटिव एजेंडा के साथ लोगों के बीच जाना चाहिये।

 जी0एस0टीके संदर्भ में पूछे गये प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जी0एस0टीपर बुलाई गयी बैठक में जाने ना जाने का प्रश्न ही नहीं आता हैक्योंकि बैठक के लिये कोई आमंत्रण नहीं था। उन्होंने कहा कि जी0एस0टीपर अनेक वर्षो से काम चल रहा थाजब हम एन0डी0में भी थे तबभी हम जी0एस0टीके हिमायती थे। उस वक्त बिहार के तत्कालीन वित्त मंत्री श्री सुशील कुमार मोदी को इम्पॉवर कमिटी का चेयरमैन भी बनाया गया था। हम शुरू से जी0एस0टीके पक्ष में थे। उन्होंने कहा कि जी0एस0टीसे व्यापार और कर में पारदर्शिता आयेगीगलत कारोबार पर रोक लगेगी। उन्होंने कहा कि जी0एस0टीके लागू होने से शुरूआती तौर पर कठिनाई तो आ सकती है। हम चाहते हैं कि यह प्रभावी हो। उन्होंने कहा कि कर के मामले में यह एक रिफॉर्म है। बिहार में जी0एस0टीके संबंध में उन्मुखीकरण का कार्य किया गया है ताकि व्यापरियों एवं अधिकारियों को इसका अनुपालन करने में सुविधा हो।

एसिड अटैक पीड़िता के संदर्भ में पूछे गये प्रशन पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे पास अभी तक कोई चिट्ठी नहीं आयी है। पी0टी0आईमें आये समाचार के माध्यम से जानकारी मिलीप्राप्त जानकारी पर हमने तत्काल कार्रवाई करने हेतु पटना आयुक्त को निर्देश दिया है। पीड़ित परिवार को पूरी मदद दी जायेगी। उन्होंने कहा कि एसिड अटैक में पीड़ित के इलाजकानूनी कार्रवाईसहायता देने के संबंध में हमारी पहले से नीति बनी हुयी है। हमने पटना आयुक्त को सभी पहलुऔं को जाँच करने का निर्देश दिया है।